Bhopalbreaking newsmadhya pradesh

कैनोइंग तैराकी मैं एशियन स्टार बनेगी मछुआरे की बैटी

मध्यप्रदेश का नेतृत्व करेगी कावेरी ढीमर
प्रकाश मालवीय
भोपाल। सीहोर जिले के नसरुल्लागंज तहसील क्षेत्र  के ग्राम मंडी की‌ कावेरी ढीमर  नगर  से 8 किलोमीटर दूर ग्राम मंडी गांव के एक मछुआरे की बेटी   गांव के बैक बाटर से  तैराकी सीख कर कैनोइंग विदेशी खेल में मध्य प्रदेश का  प्रतिनिधित्व करते हुए परचम लहराया है ।अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने वाली कावेरी मछली पकड़ने वाले एक गरीब पिता रणछोड़ ढीमर की बेटी है। गरीबी और मुफलिसी के बीच कुछ करने की चाहत ने कावेरी को वह पहचान दी जो शायद कम ही लोगों को नसीब होती है। उसके परिवार में इस खेल के प्रति इतना समर्पण नहीं था, लेकिन खंडवा के पूर्व जिला खेल अधिकारी जोसफ बक्सला, कोच चेतन गौहर ने इस बालिका को ग्रामीण क्षेत्र से निकालकर भोपाल तक पहुंचाया। कावेरी ने हाल ही में सब जूनियर में गोल्ड मेडल हासिल किया। जूनियर में गोल्ड मेडल मिला। कैप्टन पीयूष आरोही मुख कोच मध्य प्रदेश वाटर स्पोर्ट्स अकादमी ने बताया कि ओलंपिक और एशियन चैंपियन के लिए इसी माह के आयोजित होने वाला है यह खिलाड़ी चयनित हुई है। इंडिया कैंप के लिए चयनित खिलाड़ियों मे कैनोइंग खिलाड़ी कावेरी ढीमर नमिता चंदेल और देवेंद्र सेन शामिल है।
कावेरी ढीमर पहले स्थान पर
 अकादमी के मुख प्रशिक्षक कैप्टन पीयूष बरोही ने बताया कि अकादमी की कैनोइंग खिलाड़ी कावेरी टीम में सिलेक्शन ट्रायल में देशभर के खिलाड़ियों को पीछे छोड़ते हुए पहला स्थान प्राप्त किया। सिलेक्शन ट्रायल में क्वालीफाई करने वाले खिलाड़ियों को बधाई दी।

Related Articles

Back to top button