breaking newsWorld

ट्रंप-किम वार्ता: कोरियाई प्रायद्वीप में अब सैन्य अभ्यास नहीं करेगा अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के बीच मंगलवार को हुई बैठक में कई अहम फैसले लिए गए उनमें से एक था कोरियाई प्रायद्वीप में सैन्य अभ्यास नहीं करने पर अमेरिका की सहमति। ट्रंप ने कहा कि वे कोरियाई प्रायद्वीप में सैन्य अभ्यास को रोक रहे हैं और ऐसा उम्मीद करते हैं कि उत्तर कोरिया के नेता किम-जोंग-उन भी जल्द से जल्द परमाणु हथियार को खत्म करे।

लेकिन, डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया पर आर्थिक प्रतिबंध अभी जारी रहेगा। अमेरिकी राष्ट्रपति और उत्तर कोरिया के तानाशाह के बीच इस तरह की यह पहली बैठक थी जिसके बाद जारी किए गए संयुक्त बयान में दोनों ही देशों ने पिछले सात दशक से जारी आपसी संघर्ष को खत्म करते हुए अपने बंद दरवाजे खोले।

डोनाल्ड ट्रंप ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यूनाइटेड स्टेट्स ‘द वॉर गेम्स’ को बंद कर देगा, इसे उत्तर कोरिया के लिए रियायत के तौर पर देखा जा रहा है। ट्रंप ने कहा कि सैन्य अभ्यास खर्चीला और काफी आक्रामक थे।

दोनों की तरफ से जारी संयुक्त यूनाइटेड स्टेट्स ने कहा- “सुरक्षा गारंटी मुहैया कराने को प्रतिबद्ध हैं।” इसके बदले किम ने कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

अब तक क्या-क्या हुआ-

-बड़ी बैठक और सहयोगियों के साथ लंच से पहले दोनों देशों के प्रमुखों ने अपने अनुवादकों के साथ वन-टू-वन करीब 40 से 50 मिनट तक निजी तौर पर मिले।

-दोनों नेताओं ने साझा बयान पर दस्तख़त किए जिनमें अमेरिका ने कहा कि वह उत्तर कोरिया को परमाणु अप्रसार के लिए पूरी सुरक्षा देने को प्रतिबद्ध है।

किम जोंग उन ने कहा- “हमारे के बीच ऐतिहासिक बैठक हुई है अतीत को पीछे छोड़ने का फैसला किया है।” उन्होंने आगे कहा- “दुनिया बड़ा बदलाव देखेगी।”

-डोनाल्ड ट्रंप इस वार्ता को लेकर हुई प्रगति के चलते काफी आशावादी दिखे। उन्होंने कहा- हम दुनिया की बहुत बड़े ख़तरे का समाधान करने जा रहे हैं।

Related Articles

Back to top button