breaking newsBusiness

भारत के इस शहर में खुला IKEA का पहला स्टोर, 200 रुपये से कम में मिलेंगे 1000 प्रोडक्ट

दुनियाभर में मशहूर स्वीडन का फर्नीचर मेगा स्टोर आइकिया (IKEA) अब भारत में भी खुल गया है। इसका पहला स्टोर हैदराबाद में खोला गया है। स्वीडन की इस कंपनी ने हैदराबाद में 13 एकड़ में ये विशाल स्टोर खोला है। यहां आप एक हजार से ज्यादा चीजें खरीद सकते हैं और वो भी कम कीमतों पर। किचन के सामान और कुछ चीजें तो यहां आपको 200 रुपये से भी कम में मिलेंगी। तेलंगाना के वाणिज्य व उद्योग मंत्री के टी रामा राव ने आइकिया के सीईओ पीटर बेजटल का साथ इस स्टोर का उद्घाटन किया। सुपर स्टार रजनीकांत इस स्वीडीश कंपनी आइकिया के हैदराबाद स्टोर के पहले ग्राहक बनें।

जानें आइकिया स्टोर की खास बातें

1. IKEA एक मल्टीनेशनल कंपनी है जहां फर्नीचर से लेकर घर के सारे समान मिलते हैं। वो बेहद किफायती कीमत पर।

2. हैदराबाद में खुला पहला आइकिया स्टोर 13 एकड़ कॉम्पलेक्स में फैला हुआ है। इस शोरूम में करीब 7,500 फर्नीचर प्रोडक्ट्स की भरमार होगी

3. कंपनी ने कहा कि वो यहां किफायती सामान बेचने पर जोर दे रही है, इसी कारण उसके कुल 7,500 उत्पादों में से एक हजार से ज्यादा सामान 200 रुपये से कम के होंगे। आइकिया के 1000 प्रोडक्ट मेड इन इंडिया हैं।

4. आइकिया के इस स्टोर में 1000 सीटों वाला रेस्टोरेंट भी है, जहां सिर्फ भारतीय खाना ही नहीं बल्कि दुनिया भर की कुजिन मिलेगी। आइकिया हैदराबाद में बच्चों के लिए प्ले एरिया भी है।

5. आइकिया स्टोर में आप सिर्फ 149 रुपये में आप स्वीडन की मशहूर मीटबॉल्स का मजा ले सकेंगे। इसके अलावा बिरयानी सिर्फ 99 रुपये में मिलेगी।

6. आइकिया रिटेल इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पीटी बेत्जेल ने कहा कि इस स्टोर में 950 कर्मचारी होंगे, जिनमें करीब आधी महिलाएं होंगी।

7. ब्रॉडिन ने कहा कि भारत हमारे लिए महत्वपूर्ण बाजार है। कंपनी ने कहा कि उसकी योजना देश के 40 शहरों में स्टोर शुरू करने की है।

8. हैदराबाद के बाद मुंबई स्टोर 2019 की गर्मियों तक तैयार हो जाएगा। इसके बाद बेंगलुरु और गुरुग्राम में स्टोर शुरू होंगे। कंपनी ने कहा है कि भारत में मुनाफा कमाने में कई साल लग जाएंगे।

9. आइकिया को उम्मीद है कि एक साल के भीतर करीब 60 लाख ग्राहक उसे मिल सकेंगे।

10. आइकिया की टीम ने भारत में काम शुरू करने से पहले करीब 1,000 घरों में जाकर सर्वे किया और उसी आधार पर समान की कीमतें रखी गई है।

Related Articles

Back to top button