Bhopalchattisgarhmadhya pradesh

बीई के छात्रों को कोर्स पूरा करने के लिए मिल सकता है एक और मौका

राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (आरजीपीवी) बीई के छात्रों को कोर्स पूरा करने के लिए एक साल का समय और दे सकता है। अब तक बीई का चार साल का कोर्स छात्र आठ साल में पूरा कर सकता है। अगर इस अवधि में वह कोर्स पूरा नहीं कर पाता तो उसे नॉट फिट फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एनएफटी) मान लिया जाता है। विवि प्रबंधन कुलपति की विशेष अनुमति से इन्हें एक और साल का मौका दे सकता है। यानि नौ साल में कोर्स पूरा करना होगा। बुधवार को आरजीपीवी की कार्यपरिषद की बैठक में यह मुद्दा छाया रहा।

कार्यपरिषद की बैठक में कई अन्य मुद्दों पर भी चर्चा हुई। सदस्यों के मुताबिक एनएफटी का प्रस्ताव भी रखा गया। हालांकि इसे समन्वय समिति की बैठक में भी रखना होगा।

अधिकारी-कर्मचारियों को मिलेगा सातवां वेतनमान

बैठक में विवि के कर्मचारियो को सातवां वेतनमान दिए जाने पर भी सहमति बनी। इस संबंध में शासन को प्रस्ताव भेजा जाएगा। इसी के साथ 2007 तक रखे गए दैनिक वेतन भोगियों को भी स्थायी करने पर सहमति दी गई। इसमें शासन के नियमों का पालन किया जाएगा।

यूटीडी से ऑनलाइन परीक्षा

बैठक में तय हुआ कि यूनिवर्सिटी टीचिंग डिपार्टमेंट (यूटीडी) में ऑनलाइन परीक्षा करवाई जाए। अगर यह सफल होती है तो इसे कॉलेजों में लागू किया जाए। लेकिन, पहले देखा जाए कि ऑनलाइन परीक्षाएं और मूल्यांकन की क्या स्थिति है। यह कितने सटीक बैठते हैं।

एक साथ यह सब जगह लागू नहीं किया जाएगा। पायलट प्रोजेक्ट के रूप में केवल यूटीडी में लागू किया जाएगा। इसी के साथ पीएचडी की थीसिस प्लेगरिज्म सॉफ्टवेयर से चैक की जाएगी। अगर कोई शोधार्थी किसी और की थीसिस की नकल करता है तो यह सॉफ्टवेयर से पकड़ लेगा। इसे लागू करने पर सहमति बन गई है।

पॉलीटेक्निक विंग होगी शिफ्ट

विवि की पॉलीटेक्निक विंग जो अभी गौतम नगर में संचालित होती है इसे भी विवि में शिफ्ट किया जाएगा। इसे लेकर सभी सदस्यों में सहमति बन गई है।

Related Articles

Back to top button