Delhi

गरीबों की कमर तोडने लगी मंहगाई

– पेट्रोल रसोई गैस की मंहगाई भुना नहीं पा रही कांग्रेस
– अर्थव्यवस्था से लेकर हो रहे आमजन प्रभावित
मध्यप्रदेश। प्रदेश में मंहगाई और रसोई गैस के दाम, डीजल पेट्रोल के दामों में रोजाना कम ज्यादा की स्थिति बनी हुई है। कांग्रेस प्रदेश में इसका विरोध भी मजबूती से नहीं कर पा रही है। हालांकि पिछले दिनों प्रदेश में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिला स्तर पर मंहगाई के विरोध में रैलियां निकाली थी। पेट्रोल और डीजल के दामों में होरहे उतार चढाव का असर आम लोगों पर भी देखा जा रहा है।
गौरतलब है कि गैस सिलेंडर की मूल कीमत में जनवरी से दिसंबर 2020 के दौरान 12 माह में 131 रुपए का इजाफा हो गया है। इस साल की शुरुआत में जनवरी 2020 के दौरान रसोई गैस सिलेंडर 747 रुपए में मिल रहा था और सब्सिडी राशि 180 रुपए आ रही थी। यानी मूल कीमत 567 रुपए ही थी। रसोई गैस के दामों में लगातार बढोत्तरी हुई है। पेट्रोल और डीजल के दामों में भी लगातार बढोत्त्तरी हो रही है। इसका सीधा असर अर्थ व्यवस्था पर तो पडता ही है पर आमजनों को भी इसका नुकसान भुगतना पडता है।
आमजनों की जेब पर बोझ
कोरोना काल से आम जनों के लिए आवागमन का प्रमुख साधन बाइकें ही बन रही है, इस दौरान डीजल के दामों में इजापफा होने के कारण से य़ात्री वाहनों के किराये में भी इजाफा हुआ है, ऐसे में 100 से 150 किलोमीटर तक की दूरी तक का आवागमन लोग बाइक से कर रहे है। य़ात्री वाहनों की उपलब्धता भी कम है। पेट्रोल के दामों में हो रही बढोत्तरी के कारण से आमजनों की जेब पर अतिरक्ति बोझ बढ रहा है।
किसानों को करना पड रहा खर्च
प्रदेश में डीजल के दामों में हो रही बढोत्तरी के कारण से किसानों को इस समय अतिरिक्त खर्च वहन करना पड रहा है। प्रदेश में रबी की फसल के दौरान स्टापडेमों एवं अन्य जलाशयोंए पोखरों से सिंचाई किसान करते है। इसके लिए डीजल पंप का सहारा लेते है। डीजल के दामों में हो रही बढोत्तरी के कारण से किसानों को डीजल पर अतिरिक्त खर्च करना पड रहा है। इससे रबी के फसल के उत्पादन पर लागत में और इजापफा हो रहा है।
आलू और प्याज के भी भाव चढे
सोना चांदी, कपडे इलेक्टिानिक, सजावटी, विलासिता के सामनों पर यदि मंहगाई बाजार को प्रभावित कर रही है पर रोजमर्रा की वस्तुओं पर भी मंहगाई का असर देखा जा रहा है। गरीब और आम आदमी के भोजन में आलू और प्याज आवश्यकता अधिक वह मंहगी सब्जियां वैसे ही नहीं खरीद पाता है, अब आलू 30 से 40 रू किलो, प्याज 30 से 50 रूपये प्रति किलो बिक रहा है। ऐसे में गरीब परिवारों को तो आलू और प्याज ही खरीदने में सोच विचार करना पड रहा है।

Related Articles

Back to top button