Life-Style

Water Expiry: क्या पानी भी कभी हो सकता है एक्सपायर? जानें क्या है सच…

नई दिल्ली। Water Expiry: क्या आपने कभी पानी की बोतल पर एक्सपायरी डेट देखी है? ऐसे कई ब्रैंड्स हैं, जिन्होंने पानी की बोतल पर एक्सपायरी डेट छापनी शुरू कर दी है। शोध की मानें तो यह थोड़ा भ्रामक हो सकता है। यह आपको यह सोचने पर मजबूर करता है कि एक्सपायरी डेट निकल जाने पर क्या पानी पीने के लिए वास्तव में सुरक्षित है या नहीं। तो आइए जानें कि क्या सच में पानी की कोई एक्सपायरी डेट होती है या नहीं!

क्या नल का पानी कभी एक्सपायर होता है?

शोधकर्ताओं के मुताबिक, ऐसा पाया गया है कि नल के पानी को अगर सही तरीके से स्टोर किया जाए, तो इसे 6 महीनों तक पिया जा सकता है। हालांकि, कार्बोनेटेड नल का पानी समय के साथ फ्लैट हो जाता है क्योंकि पानी में मोजूद गैस उड़ने लगती हैं, जिसकी वजह से स्वाद बासी लगने लगता है। सामान्य नल का पानी भी कुछ समय बाद बासी लगने लगता है, क्योंकि हवा में मौजूद कार्बनडायऑक्साइट पानी के साथ मिल जाती है, जिससे ऑक्सीजन का स्तर कम हो जाता है और पानी का स्वाद हल्का एसिडिक लगने लगता है।

सादे और कार्बोनेटेड नल के पानी दोनों का स्वाद खराब होने के बावजूद, उन्हें 6 महीने तक पीने के लिए सुरक्षित माना जाता है। पानी को 6 महीनों के लिए स्वस्थ और पीने लायक बनाए रखने के लिए आपको सिर्फ इसे ठंडी, ड्राई और अंधेरे में यानी फ्रिज में रखना पड़ेगा।

क्या बोतल का पानी एक्सपायर होता है?

लाइव साइंस की रिपोर्ट के मुताबिक, पानी कभी भी ख़राब नहीं होता, लेकिन एक्सपायरी डेट का कनेक्शन पानी की बोतल यानी प्लास्टिक से है। पानी को स्टोर करने के लिए प्लास्टिक की बोतलों का इस्तेमाल किया जाता है। कुछ समय बाद प्लास्टिक पानी में घुलने लगता है, जो सेहत के लिए नुकसानदायक हो जाता है।

न्यू जर्सी में 1987 में पारित एक कानून के अनुसार, खाद्य और पानी कंपनियों के लिए आवश्यक कर दिया गया कि वे प्रत्येक उत्पाद पर दो साल से कम की एक्सपायरी डेट डालें। यहां तक ​​कि अगर पानी वास्तव में एक्सपायर नहीं होता है, तब भी पानी की बोतलों पर एक एक्सपायरी डेट प्रिंट करना महत्वपूर्ण हो गया है।

बाद में इस कानून में बदलाव किया गया लेकिन यह हमेशा सलाह दी जाती है कि अगर प्लास्टिक की पानी की बोतल 6 महीने से अधिक पुरानी हैं तो उसका पानी नहीं पीना चाहिए। प्लास्टिक बीपीए (बिस्फेनॉल) और अन्य रसायनों को छोड़ने के लिए जाना जाता है, जो पानी को दूषित करते हैं, जिससे यह मानव उपयोग के लिए हानिकारक हो जाता है।

रोज़ाना प्लास्टिक की बोतल से पानी पीने से स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं देखी जा सकती हैं। जिसमें पेट की सेहत से जुड़ी दिक्कतों के साथ प्रतिरक्षा भी प्रभावित हो सकती है।

आप पानी को बेहतर तरीके से कैसे स्टोर कर सकते हैं?

पानी को सही तरीके से स्टोर करना बेहद ज़रूरी होता है। इससे आप कई तरह के साइड-इफेक्ट्स से बचेंगे जिनमें मतली, उल्टी आदि शामिल होते हैं। पानी को स्टोर करते समय सबसे आम गलती हम यह करते हैं, कि इसे गर्म जगह पर रखते हैं। गर्मी की वजह से प्लास्टिक से टॉक्सिन्स निकलकर पानी में मिल जाते हैं, जिससे नुकसान हो सकता है।

हालांकि, पानी को अगर ठंडी और ड्राई जगह पर रखा जाए, तो इसके नेगेटिव इफेक्ट्स लंबे समय तक दूर रहते हैं। साथ ही पानी को दूसरे कैमिकल्स से भी दूर रखना चाहिए। जैसे घर की सफाई के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले प्रोडक्ट्स।

Related Articles

Back to top button