madhya pradesh

मप्र के सर​कारी अस्पताल के कोविड वार्ड की छत से बारिश में टपका भ्राष्टाचार

— राजगढ़ के कोविड वार्ड का घाटिया निर्माण
— कोविड मरीजो के लिए बारिश का पानी बना मुसीबत
— 80 लाख रुपये से पुराने
भवन को बनाया है कोविड वार्ड

मध्यप्रदेश। राजगढ़ जिले के सरकारी अस्पताल के कोविड वार्ड की छत से हल्की बारिश में ही भ्राष्टाचार टपक गया है। छत से टपके सर​कारी भ्राष्टाचार से कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों को काफी परेशानी हुई। इस भ्राष्टाचार पर राजगढ़ के विधायक बापू सिंह तंवर ने इसको लेकर फोटो के साथ एक सीएम शिवराज सिंह को ट्वीट किया है ट्वीट में लिखा है ,शिवराज जी मैं इस घटिया कार्य की कड़ी निंदा करता हुं, जो इतना भ्रष्टाचार और घटिया कार्य किया है ।

कोरोना आईसीयू वार्ड जहां पहली बारिश में ही पानी टपकने लगा.. पहली बारिश में ही टप टप करते इस पानी ने स्वास्थ्य सेवाओं की पोल खोल दी। कोरोना महामारी को लेकर जिला अस्पताल की पुरानी बिल्डिंग को रिपेयर कर लगभग 80 लाख रुपए खर्च कर इसको वार्ड को पूरी तरह तैयार किया गया था लेकिन इस बिल्डिंग के रिपेयरिंग में किस तरह का कार्य हुआ है यहां एक बारिश के होने से ही साफ पता चल गया है ,अभी तो बारिश का मौसम भी शुरू नहीं हुआ, पहली बारिश के जो कुछ समय के लिए आई थी, बारिश शुरू होते ही राजगढ़ कोविड आईसीयू वार्ड की छत टपकने लगी। आईसीयू में गंभीर मरीजों को रखा जाता है,और राजगढ़ में ऐसी वार्ड में कोविड के गम्भीर मरीज भर्ती है । ऐसे में अस्पताल की छत टपकना स्वास्थ्य महकमे पर सवाल खड़ा कर रही है। अभी तक कोरोना संक्रमित मरीजों को इंजेक्शन,आक्सीजन एवं बेड के लिए परेशान होना पड़ रहा था लेकिन अब राजगढ़ जिला अस्पताल में एक नई मुसीबत मरीजों एवं उनके परिजनों के सामने आ रही है। छत से पानी टपकने पर गंभीर मरीजों को कहां लेकर जाएं और अस्पताल में भर्ती अपने मरीज को पानी से कैसे बचाएं ये बड़ा सवाल है राजगढ़ के जिला अस्पताल कोविड वाराजगढ़ के विधायक बापू सिंह तंवर ने इसको लेकर फोटो के साथ एक सीएम शिवराज सिंह को ट्वीट किया है ट्वीट में लिखा है आदरणीय शिवराज जी मैं इस घटिया कार्य की कड़ी निंदा करता हु, जो इतना भ्रष्टाचार और घटिया कार्य किया है ।

Related Articles

Back to top button