Politics

समझौते के 4 घंटे बाद ही कांग्रेस-हार्दिक के संगठन में फूट, सूरत में तोड़फोड़

गांधीनगर.गुजरात में लंबे वक्त से समझौते की कोशिशों में जुटे कांग्रेस और हार्दिक पटेल के संगठन में रविवार देर रात फूट हो गई। शनिवार शाम कांग्रेस और हार्दिक के पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (PAAS) के सदस्यों ने समझौता होने का दावा किया था। पर रात करीब 11 बजे कांग्रेस के 77 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी होते ही प्रदेश में कई जगह ‘पास’ कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस का विरोध शुरू कर दिया। सूरत के कांग्रेस दफ्तर में तोड़फोड़ हुई। वहीं, वराछा, पूणा और मजूरा में दोनों संगठनों के कार्यकर्ताओं में मारपीट भी हुई। कांग्रेस की लिस्ट में हार्दिक के दो साथियों ललित वसोया और अमित पटेल को टिकट मिला है।

कांग्रेस ने भरोसे में लिए बिना टिकट बांटे
-पास संयोजक दिनेश बामभनिया ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने भरोसे में लिए बिना टिकट बांटे हैं। राज्य में कांग्रेस का विरोध किया जाएगा। अगर ‘पास’ नेता चुनाव लड़ेंगे तो उनका भी विरोध करेंगे।
– सूरत समेत कई शहरों में कांग्रेस दफ्तरों पर तोड़फोड़ और प्रदर्शनों के बीच गुजरात के पार्टी प्रेसिडेंट भरत सोलंकी के घर के सामने भी काफी संख्या में पाटीदार नेता जमा हो गए। सोलंकी को सिक्युरिटी दी गई है।
– बामभनिया समेत कुछ पास कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया। हालांकि, इस पूरे विवाद पर देर रात तक हार्दिक पटेल या कांग्रेस की तरफ से कोई सफाई नहीं आई थी।
– सीएम विजय रुपाणी ने कहा, “पास के नेता कांग्रेस के एजेंट के तौर पर काम कर रहे थे। इनका चेहरा अब सामने आ गया है।”
पास ने सूरत से 6 टिकट मांगे, मिला एक भी नहीं
– कांग्रेस ने सूरत से पाटीदार समुदाय के 4 नेताओं को टिकट दिया है, लेकिन ‘पास’ को एक भी नहीं मिला। उसने यहां से 6 टिकटों की मांग की थी। कांग्रेस की पहली लिस्ट में ‘पास’ के कुल 11 कन्वीनर्स को टिकट मिलने की उम्मीद थी।
और कहां हुई तोड़फोड़?
– सूरत के अलावा ‘पास’ के लोगों ने वराछा रोड पर कांग्रेस कैंडिडेट और मनापा में नेता प्रतिपक्ष प्रफुल तोगड़िया के दफ्तर में तोड़फोड़ की। पूणा और मजूरा में कांग्रेस और पास के कार्यकर्ताओं में आपस में खूब हाथापाई हुई।
– इसके बाद पाटीदारों का गुस्सा कई और इलाकों में भी देखने को मिला। कांग्रेस कैंडिडेट नीलेश कुम्भाणी के पूणा स्थित दफ्तर को भी निशाना बनाया गया। वे पास के कन्वीनर हैं।
गुजरात में कैसे बदले हालात?
– शाम 6:45 बजे: कांग्रेस और पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के सदस्यों ने समझौते का दावा किया।
– रात 11:15 बजे: कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी होते ही दोनों पार्टी के कार्यकर्ताओं का कई शहरों में विरोध शुरू।

Related Articles

Back to top button