Politics

कांग्रेस के प्रयागराज महानगर सचिव ने पोस्टर जारी कर आजम खान को दिया पार्टी आमंत्रण

प्रयागराज। जरा आप भी इस पोस्‍टर को ध्‍यान से देखें। इसे देखकर तो यही कहा जा रहा है कि यह कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता कांग्रेस महानगर सचिव इरशाद उल्‍ला की ओर से जारी किया गया है। पोस्‍टर में कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा के साथ प्रदेश के पूर्व मंत्री वरिष्‍ठ नेता आजम खान की फोटो छपी है। इस पोस्‍टर के माध्‍यम से इरशाद उल्‍ला आजम खान की ओर से कांग्रेस में निमंत्रण की बात लिखी गई है। इस पोस्‍टर से राजनीतिक गलियारे में गर्मी आ गई है। इस पोस्‍टर में कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता प्रमोद कृष्‍णम की भी फोटो है। वहीं इरशाद उल्‍ला के बगल में पूर्व प्रदेश प्रवक्‍ता बाबा अवस्‍थी की भी तस्‍वीर है।

इंटरनेट मीडिया पर भी पोस्‍टर : प्रयागराज में कांग्रेस के चौक स्थित कार्यालय पर ये पोस्‍टर लगा है। इसके साथ ही इंटरनेट मीडिया पर भी इस पोस्‍टर को वायरल किया गया है। कांग्रेस नेता इरशाद का कहना है कि आजम खान ढाई वर्ष से जेल में बंद हैं। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने उनके साथ सौतेला व्‍यवहार किया है। मेरा सवाल है कि यदि सपा मुखिया के परिवार का कोई सदस्‍य जेल में होता तो क्‍या वह चुप बैठते। यही वजह है कि मैंने आवाज उठाई और आजम खान को कांग्रेस में आने का निमंत्रण दिया है।

पोस्‍टल लगवाने वाले नेता ने यह कहा : इरशाद ने कहा कि कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्‍णन पहले ही जेल में जाकर आजम खान के अलावा उनके परिवार से मुलाकात कर चुके हैं। अल्‍पसंख्‍यक प्रकोष्‍ठ के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी भी जेल में उनसे मिल चुके हैं। जल्‍द ही मैं भी जेल में मिलने जाऊंगा यदि वहां उनसे मुलाकात नहीं हो पाई तो परिवार से मिलने रामपुर भी जाऊंगा। कांग्रेस ने हमेसा अल्‍पसंख्‍यकों का सम्‍मान किया है। आजम खान को कांग्रेस की सदस्‍यता लेनी चाहिए।

जिलाध्‍यक्ष ने इरशाद उल्‍ला को कारण बताओ नोटिस जारी की : कांग्रेस प्रयागराज के जिलाध्‍यक्ष अंशुमान मिश्र ने कहा कि इरशाद उल्‍ला ने जो पोस्‍टर जारी किया है यह उनकी निजी राय है। पार्टी का इससे कोई लेना देना नहीं है। इस संबंध में यदि कोई निर्णय होगा तो वह शीर्ष नेतृत्‍व लेगा। बिना किसी से विमर्श किए इस तरह का कदम उठाने के लिए कांग्रेस महानगर सचिव इरशाद उल्‍ला को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है।

Related Articles

Back to top button