Politics

इस रिपोर्ट में हैं बाबा और हनीप्रीत के असली राज, कैसे गुफा बनी ‘तेरा वास’!

राम रहीम और हनीप्रीत की रहस्यमयी गुफा का असली राज अब खुला है. खुफिया महल में कैसे और कहां राम रहीम और हनीप्रीत अय्याशी का खेल खेलते थे, ये हकीकत जानकर आप दांतों तले उंगलियां दबा लेंगे.

ये खुलासा कोर्ट कमिश्नर एकेएस पवार के जरिए पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट को सौंपी गई तलाशी रिपोर्ट में किया गया है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि जेड प्लस सिक्योरिटी की सुरक्षा का आनंद लेने वाले बलात्कारी बाबा राम रहीम ने अपने खुफिया महल में ‘तेरा वास’ को पूरी तरह से बुलेट प्रूफ बनाया हुआ है.

बता दें, इस खुफिया महल का नाम पहले गुफा था, जिसे बाद में बदनाम होने के बाद तेरा वास का नाम दे दिया गया था. तलाशी के दौरान इस बात का खुलासा हुआ है कि राम रहीम के इस खुफिया महल यानी तेरा वास के दरवाजों से लेकर खिड़कियां तक बुलेटप्रूफ बनाई गई थीं. गुरमीत राम रहीम के इस खुफिया महल में शान-ओ-शौकत से लेकर ऐश-ओ-आराम और अय्याशी की हर चीज मौजूद थी.

गुफा में मिली अय्याशी को दो सुरंग

राम रहीम ने अपने खुफिया महल को 3 सेक्टर में बांटा हुआ था, जिसमें दर्जनों खुफिया कैमरे और दो सुरंग भी मिली हैं. पहली मंजिल पर बेडरूम, ड्रेसिंग रूम से लेकर मेन हॉल के अलावा 5 लग्जरी कमरे हैं. दूसरी मंजिल पर स्टडी रूम के साथ एक कमरा बना हुआ है, जिसके लॉन में आर्टिफिशियल घास है और कमरे की दो दीवारें शीशे की बनी हुई हैं, जिनके आर-पार देखा जा सकता है. दूसरी मंजिल पर ही एक ड्रेसिंग रूम भी है, जिसमें लिफ्ट लगी है.

तीसरी मंजिल पर एक बेडरूम और बेडरूम के साथ एक चेंजिंग रूम और ड्रेसिंग रूम और हर रूम में एक लिफ्ट लगी है.

हर मंजिल पर बाबा ने एक बेडरूम बनाया था और हर बेडरूम से सटा हनीप्रीत का बेडरूम हुआ करता था. बाबा के खुफिया महल में जो सुरंग मिली है, उसका कनेक्शन बाबा के बेडरूम से जुड़ा है. यानी बाबा अपने बेडरूम से सीधे सुरंग में एंट्री मार सकता था.

राम रहीम के इस खुफिया महल में अय्याशी और एशो आराम का हर सामान मौजूद है. बाबा और बेबी इस महल में मसाज पार्लर का मजा लेते तो विदेश से मंगवाया हुआ पानी पीते थे, और जब राम रहीम और हनीप्रीत के बेडरूम की अलमारियां खुली तो तलाशी लेने गई टीम की आंखें भी खुली की खुली रह गईं.

गुफा में लेता था मसाज

ताजा खुलासा ये हुआ है कि राम रहीम अपनी गुफा में मसाज का मजा लेता था. राम रहीम अपनी गुफा में प्रोजेक्टर पर फिल्म देखता था. राम रहीम विदेश से मंगाया पानी पीता था. डेरे से बरामद कागजात चीख-चीख कर राम रहीम की अय्याश फितरत, उसकी अजीबो-गरीब आदतों और शौकीन मिजाज की गवाही दे रहे हैं. इनसे पता चलता है कि राम रहीम आस्था की आड़ में धंधा करता, पैसे बनाता और उन पैसों से अपने शौक पूरे करता.

गुफा की पहली मंजिल

यहां एक बेडरूम बना हुआ है, जिसमें एक बड़ा सा बेड है. दीवारों में अल्मारियों के रैक हैं. जिनमें बाबा के कपड़े भरे हुए हैं. एक AC लगा हुआ है और खिड़कियों के शीशे बुलेट प्रूफ हैं.

गुफा की दूसरी मंजिल

खुफिया महल की दूसरी मंजिल में एक स्टडी रूम है जिसमें बैठने के लिए सोफे लगे हुए हैं. हॉल के कमरे में 6 खिड़कियां लगी हुई हैं, जिनके शीशे बुलेट प्रूफ हैं. ये रूम भी एयरकंडीशंड है. इस कमरे में एक बड़ा LED टीवी, लकड़ी की अल्मारियां हैं. जिनके रैक में शहद की शीशी, दवाइयां, आई ड्रॉप्स, मसाज ऑयल, लैंडलाइन फोन, महंगे फूलदान, गुरमीत राम रहीम की फोटोज, एक चप्पल और कई जोड़ी जूते रखे हैं.

राम रहीम के रहस्यलोक की दूसरी मंजिल पर एक ड्रेसिंग रूम में 29 बड़े लकड़ी के रैक भी हैं, जिनकी ऊंचाई 14 फीट है और इनमें तरह-तरह की चीजें रखी हुई हैं.

गुफा की तीसरी मंजिल

शायद बाबा की बेबी हनीप्रीत का यही ठिकाना था. यहां एक आलीशान बेडरूम है जिसमें एक लग्जरी बेड और खिड़कियों के शीशे बुलेटप्रूफ. इस कमरे में 21 बड़ी लकड़ी की अल्मारियां हैं. जिनमें तरह-तरह की ड्रेस रखी गई हैं. पुलिस ने इन्हीं अल्मारियों से महिलाओं की आर्टिफिशल ज्वैलरी, कीमती घड़ियां, चूड़ियां, हाथों में पहनने के कड़े, कई तरह के महंगे पर्स, गले और हाथ में पहनने की मोतियों की और रुद्राक्ष की मालाएं बरामद कीं.

जाहिर है, राम रहीम संत नहीं अय्याश था. राम रहीम अपनी गुफा में बड़े-बड़े गुल खिलाता था, तो उसकी चहेती हनीप्रीत हर गुनाह में उसका साथ देती थी, उसे बाबा के राज पता थे. लेकिन, अब ये राज नहीं रहे, बल्कि, इनका पर्दाफाश हो रहा है.

बाबा ने अपने बेडरूम की बगल में हनीप्रीत का बेडरूम बनावाया था, तो बाबा के रूम में एक सीक्रेट अलमारी का भी खुलासा हुआ है. ये अलमारी नहीं बल्कि साध्वियों के हॉस्टल में पहुंचने का सीक्रेट दरवाज़ा था, जिसे राम रहीम ने लकड़ी की अलमारी नुमा बनवाया हुआ था.

राम रहीम के बेडरूम में एक ऐसा सीक्रेट छुपा था, जब इसका खुलासा हआ तो डेरे में तलाशी लेने पहुंची टीम भी हैरान रह गई. बाबा के बेडरूम में एक अलमारी बनी थी. देखने में एकदम दूसरी अलमारियों जैसी, लेकिन किसी को पता नहीं था कि इसके पीछे क्या है.

अलमारी के पीछे हॉस्टल का दरवाजा

जैसे ही बाबा के बेडरूम की अलमारी को खोला गया तो साध्वियों के हॉस्टल में एंट्री हो गई. बाबा के बेडरूम में बनी लकड़ी की ये खुफिया अलमारी साध्वियों के हॉस्टल और राम रहीम के बेडरूम के बीच दीवार का काम करती थी. बता दें कि साध्वियों का हॉस्टल बाबा के बेडरूम के दक्षिणी छोर पर बना हुआ है.

खुलासा ये भी हुआ है कि गुरमीत राम रहीम के खुफिया महल की पहली मंजिल का एक बगीचा और दूसरी सुरंग से जुड़ा हुआ है. जिस वक्त पुलिस की टीम तलाशी के लिए इस सुरंग में पहुंची तो पाया कि उनके पहले ही सुरंग के दोनों सिरों को कीचड़ से बंद कर दिया गया था.

Related Articles

Back to top button