religion

पितृ पक्ष में आने वाली ये एकादशी है बहुत अहम, जानिए मुहूर्त और महत्व

सनातन धर्म में एकादशी का व्रत सबसे अहम माना गया है। प्रत्येक महीने के दोनों पक्षों में ग्यारहवीं तिथि को एकादशी का उपवास पूजन किया जाता है। वर्ष भर में 24 एकादशी तिथियां पड़ती हैं। आश्विन मास में कृष्ण पक्ष की एकादशी को इंदिरा एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस माह इंदिरा एकादशी 2 अक्टूबर 2021 के दिन है। ये एकादशी पितृ पक्ष में है। पितृ पक्ष में आने वाली इस एकादशी की खास अहमियत होती है। इस दिन प्रभु श्री विष्णु की उपासना की जाती है। प्रथा है कि जो मनुष्य इस एकादशी के दिन व्रत तथा पूजा करते हैं उनकी सभी दुख दूर हो जाते हैं। आइए जानते हैं इंदिरा एकादशी के व्रत से संबंधित अहम बातों के बारे में।

इंदिरा एकादशी की शुभ मुहूर्त:-
आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि 01 अक्टूबर 2021 को रात 11 बजकर 03 मिनट से शुरू होगी। एकादशी तिथि ख़त्म- 2 अक्टूबर 2021 रात को 11 बजकर 10 मिनट तक। एकादशी व्रत के पारण का वक़्त 03 अक्टूबर 2021 को प्रातः 06 बजकर 15 मिनट से 08 बजकर 27 मिनट तक होगा।

इंदिरा एकादशी का महत्व:-
धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, पितृ पक्ष में आने वाली एकादशी को नियम तथा निष्ठा के साथ करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। यदि कोई शख्स एकादशी व्रत करके उसका पुण्य पितरों को समर्पित करता है तो पितृ को मोक्ष की प्राप्ति होती है। एकादशी का उपवास प्रभु श्री विष्णु को समर्पित होता है। इस दिन उपवास करने से आपकी सभी इच्छाएं पूरी होती है।

Related Articles

Back to top button