DelhiSports

सैयद मुश्‍ताक अली टी20 ट्रॉफी: बिना कोई मैच खेले टीम में आया सांसद का बेटा बाहर, उन्‍मुक्‍त चंद को मिली जगह

दिल्ली डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) की सीनियर चयन समिति ने मंगलवार (16 जनवरी, 2017) को एक अहम फैसला लिया है। इसमें बिहार के राजनेता पप्पू यादव के बेटे सार्थक रंजन को टीम से बाहर किया गया है। 21 जनवरी से कोलकाता में शुरू हो रहे सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के नाकआउट चरण के लिए अनुभवी उन्मुक्त चंद को टीम में जगह दी है। बता दें कि आईपीएल मैच का अनुभव तक नहीं होने बावजूद सार्थक का सेलेक्शन दिल्ली की टीम में हुआ था। इसके बाद मामला काफी विवादों में भी रहा था। यहां तक कि चयन समिति के तीन सदस्यों अतुल वासन, हरि गिडवानी और रॉबिन सिंह जूनियर पर प्रतिभाओं को नजरअंदाज कर रसूखदार लोगों के बेटों को टीम में जगह देने के आरोप तक लगे। हालांकि बाद में सार्थक ने जम्मू-कश्मीर जैसी कमजोर टीमों के खिलाफ 20 गेंदों में 31 रन और 17 गेंदों में 25 रन मारकर काफी सुर्खियां बटोरी। इनमें से एक टीम के खिलाफ गौतम गंभीर ने पारी की शुरुआत नहीं की थी जबकि एक टीम के खिलाफ वह खेले नहीं थे।

मामले में डीडीसीए के एक सीनियर अधिकारी ने बताया, ‘तेजस बरोका, हिम्मत सिंह और सार्थक को अंडर-23 टीम में जगह दी गई है क्योंकि सीनियर टीम में उनका चयन तय नहीं है। उन्मुक्त, वरुण सूद और मिलिंद कुमार जैसे सीनियर खिलाड़ी टीम को मजबूती देंगे।’ डीडीसीए पर कई लोगों ने आरोप लगाया था कि सार्थक को आईपीएल में नीलामी का हिस्सा बनाने का मकसद पूरा होने के बाद चयनकर्ताओं को बचने का मौका मिल गया।

गौरतलब है कि पूर्व भारतीय क्रिकेटर अुतल वासन ने सोशल मीडिया में पिछले 30 मैचों में उन्मुक्त के खराब प्रदर्शन का मुद्दा उठाया गया था। हालांकि सोशल मीडिया में इसकी तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिली। यूजर्स ने वासन को याद दिलाया कि उन्मुक्त वहीं खिलाड़ी हैं जिनकी कप्तानी में भारत ने अंडर-19 वर्ल्ड कप का खिताब जीता।

प्रदीप सांगवान (कप्तान), गौतम गंभीर, ऋषभ पंत, नितीश राणा, ध्रुव शौरी, उन्मुक्त चंद, मिलिंद कुमार, ललित यादव, पवन नेगी, वरुण सूद, कुलवंत खेजरोलिया, नवदीप सैनी, सुबोध भाटी, विकास टोकस और क्षितिज शर्मा।

Related Articles

Back to top button