Top-Stories

महिला उत्पीडन : हर चौथे दिन एक महिला की आबरू हुई तार-तार

 

– बीते साल की तुलना में मामलों में आई कमी

मध्यप्रदेश। प्रदेश की राजधानी के नजदीकी जिले सीहोर को दो हजार बीस कोरोना काल के साथ कई दंश दे गया। यह साल जिले को जाते जाते महिलाओं के उत्पीडन के आंकडों में और इजापफा कर गयाय जिले में महिला उत्पीडन के मामले में चौकाने तथ्य यह है कि हर चौथे दिन एक महिला की आबरू तार तार हुईय अब नए साल से उम्मीदें है कि महिलाओं के उत्पीडन के मामलों में रोक लगेगीय और अपराधियों पर अंकुश लग सकेगा।
सीहोर जिले में महिला उत्पीडन के मामलों में महिलाओं के साथ दुष्कर्म के मामलों में बीते सालों के तुलना में कमी आई है, जहां 2019 में सीहोर जिले में 106 महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाएं घटित हुई थी पर 2020 में 97 महिलाओं के साथ दुष्कर्म के मामले सामने आए है, महिलाओं की आबरू तार तार के मामलों में कमी आई है। पर 31 दिसम्बर को ही सीहोर जिले के अहमदपुर थाने के तहत एक महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला फिर जिले की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खडे कर गयाय हालकि पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए आरोपियों को सलाखों के पीछे भेज दिया।

-नजदीकी रिश्तों ने भी दिया धोखा

महिलाओं के साथ सीहोर जिले में हुई दुष्कर्म की घटनाओं में जहां आधा दर्जन से अधिक मामले ऐसे सामने आए जिसमें महिलाएं और युवतियों अपने जान पहचान वाले तो कहीं नजदीकी रिश्तेदारों द्वारा ही छली गई। उनके धोखे का शिकार हुई, इससे कई रिश्ते भी तार तार हुए, वहीं छेडछाड की घटनाएं भी घटित हुई। हालांकि चौक चौराहों पर कैमरे लगने और सार्वजनिक स्थानों पर महिला पुलिस की तैनाती से छेडछाड की घटनाओं में कमी आई है।

-शादी वादा मिला झांसा

सीहोर जिले में महिलाओं के साथ हुए दुष्कर्म के मामलों में एक तिहाई मामलों में शादी का झांसा देकर दुष्कर्म के मामले सामने आए। इससे शादी के झांसे का शिकार हुई युवतियों को मानसिक पीडा का भी सामना करना पडा।

Related Articles

Back to top button