breaking newsINDIAMumbaiTop-Stories

बारिश से बेहाल हुई मुंबई, दीवार गिरने 21 लोगो की मौत

 

– पुणे में भी दीवार गिरने से 6 लोगो की मौत हो गई

– हवाई, सडक और रेल मार्ग प्रभावित

-महाराष्ट्र में मौसम विभाग का हाई अलर्ट

 

महाराष्ट्र। प्रदेश में बीतें तीन दिन से लगातार हो रही मुसलाधार बारिश से मुंबई बेहाल हो गई, प्रदेश के अन्य इलाके में भी जनजीवन प्रभावित हुआ है। मुबंई के मलाड में दीवार गिरने से 18 और कल्लाण में एक बच्चे सहित तीन लोगो की मौत हो गई,जबकि पुणे में एक कॉलेज की दीवार गिरने से 6 लोगो की मौत हुईं है। बारिश के चलते हवाई, सडक और रेल मार्ग प्रभावित हुए है। मौसम विभाग ने प्रदेश हाई अलर्ट घोषित किया है। सरकार ने मंगलवार को सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया है।

सोमवार -मंगलवार की दरम्यिानी रात मुबंई में हो रही मूसलाधार बारिश से मलाड इलाके में पिम्परीपाड़ा स्थित एक परिसर की दीवार गिर गई जिससे पास में मौजूद झुग्गियों में सो रहे लोग दीवार के मलवे में इब गए। दबने से करीब 18 लोगों की मौत हो गई,हादसे की जानकारी मिलते ही मौके पर एनडीआरएफ का बचाव दल पुहंच गया और घायलों को मलवे से बाहर निकालकर अस्पाताल पहुंचाया। कल्याण इलाके में दीवार गिरने से तीन ओर पुणे में सिंहगढ़ कॉलेज की दीवार गिरने से 6 लोगों की मौत हुई है। यहां भी बचाव कार्य जारी है। अब तक बचाव दल और लागो की सहायता से कुल 85 लोगो को जोगेश्वरी ट्रॉमा अस्पताल और कांदिवली के शताब्दी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। महाराष्ट्र सीएम देवेंद्र फडणवीश ने मलाड में दीवार गिरने से मरने वालों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजे देने की घोषणा की है। मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता सुनील उदासी ने कहा कि आरपीएफ जवानों की मदद से मध्य रेलवे ने आधीरात को चलने वाली लोकल ट्रेन में फंसे हजारों यात्रियों को निकाला और कई स्टेशनों पर चाय, बिस्कुट और अन्य खाद्य पदार्थ भी बांटे गए है। मूसलाधार बारिश के कारण जयपुर से आ रहा ‘स्पाइसजेट’ का एक विमान मुंबई हवाई अड्डे के मुख्य रनवे से फिसलते हुए उससे नीचे उतर गया। घटना में कोई हानि नहीं होने की खबर है।

मूसलाधार बारिश के कारण महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस को भी विधायकों के लिए एक नए भवन के निर्माण की आधारशिला रखने के कार्यक्रम को रद्द करना पड़ा. मुंबई विश्वविद्यालय की परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं। साथ ही एमबीबीएस, बीडीएस और बीएएएफएस पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए छात्रों को अब पांच जुलाई तक का वक्त दे दिया गया है।
दो दिनों में ही 540 मिलीमीटर बारिश हुई है जो पिछले 10 सालों में सबसे ज़्यादा है. बारिश का पानी सड़कों पर भर गया है, जिससे मुंबई की रफ़्तार थम सी गई है। कई जगह रेलवे ट्रैक पर पानी भर गया है, जिससे ट्रेनें धीरे चल रही हैं और कई रद्द कर दी गईं हैं. भारी बारिश का असर उड़ानों पर भी पड़ा है। मौसम विभाग ने 5 जुलाई तक लगातार तेज बारिश होने की संभावना जताई है।

मुबंई बारिश तस्वीरें….

Related Articles

Back to top button