breaking newsTop-Stories

MP BY ELECTION 2020: सिंधिया की चाल पर कमलनाथ की ढाल

 

– सिंधिया के समर्थकों को ही बनाया कांग्रेस उम्मीदवार

 

 

[mkd_highlight background_color=”” color=”red”]दिलीप पाल[/mkd_highlight]

 

मध्य प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा उपचुनाव में सिंधिया को मजा चखाने के लिए अब पूर्व सीएम कमलनाथ ने उलटा बार सिंधिया पर ही चल दिया है। कमलनाथ ने ग्वालियर चबंल संभाग में कांग्रेस के जिन प्रत्याशियों को मैदान मैं उतारा है, उनमें 8 सीटों पर ऐसे उम्मीदवार हैं जो सिंधिया के पहले से ही समर्थक रहे हैं।
निश्चित् रुप से कमलनाथ की यह न केवल ऐक सोची समझी चाल है बल्कि इसके जरिए कमलनाथ भाजपा के और सिंधिया समर्थक प्रत्याशियों को मुश्किल में डाल देंगे। कमलनाथ की यह चाणक्य नीति काफी हद तक भाजपा को भारी पडऩे वाली है। कांग्रेस में जिन 8 सीटों पर सिंधिया समर्थकों को चुनाव मैदान में उतारा है, उनमें दिमनी से रविंद्र सिंह तोमर, अंबाह से सत्य प्रकाश सखवार, ग्वालियर से सुनील शर्मा, डबरा से सुरेश राजे, अशोकनगर से आशा दोहरे, जोरा से पंकज उपाध्याय, पोहरी से हरीवल्लभ शुक्ला और मुंगावली से कन्हैया
राम लोधी शामिल हैं। हालांकि माना यह जा रहा है कि सरकार तो भाजपा की ही बनी रहेगी, क्योंकि भाजपा को विधानसभा में अपना बहूमत सिद्घ करने के लिए सदन में केवल 8 सदस्यों की जरुरत है।

सिंधिया के मंत्रियों को हराना ही इनका मकसद –

राजनीतिक जानकारों का मानना है कि प्रदेश के वरिष्ठ कांग्रेस नेता एवं पूर्व सीएम कमलनाथ भी कहीं न कहीं यह बात भली भांति जानते हैं कि उप चुनाव में उनके लिए बहूमत जुटा पाना बहुत मुश्किल है, लेकिन यदि इस चुनाव में कांंग्रेस ने सिंधिया समर्थक मंत्रियों को पराजित कर दिया तो भी कांग्रेस की जीत मानी जाएगी।

मतलब की खातिर औढ़ लिया भगवा रंग –

मप्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का कहना है कि सिंधिया ने अपने मतलब की खातिर दल-बदल कर भगवा रंग औढ़ तो लिया है,लेकिन कांग्रेस की मूल विचारधारा से जुड़े लोगों ने सिंधिया का साथ नहीं देने का फैसला किया। ऐसे समर्पित कार्यकर्ताओं को कांग्रेस ने सम्मानित करते हुए उन्हें अपना प्रत्याशी बनाया है।

Related Articles

Back to top button